अभी-अभी किसानों को लेकर योगी सरकार की बड़ी का र्रवा ई

0
1391

दिल्ली में गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टर प रेड निकालने के दौरान लाल किले स मेत कई स्था नों पर कि सानों के हिं सक हो जाने और और तो ड़ फो ड़ करने के मामले में पुलिस-प्रशासन स ख्त हो गया है। गुरुवार को गाजियाबाद प्रशासन ने आं दोल नका री कि सानों को रात तक दिल्ली गेट खाली करने का अल्टीमे टम दिया है। प्रशा स न ने चेता व नी दी है कि इसका पा लन नहीं हुआ तो जब रन वहां से खाली करा लिया जाएगा। गाजिया बाद प्रशा सन ने किसान प्रदर्श नका रियों को चेता वनी देते हुए का जगह खा ली कीजिए नहीं तो हम खु द कर वाएंगे

उधर, दिल्ली पुलि स ने हिं सा के संबंध में द र्ज प्राथमिकी में नाम जद किसान नेताओं के वि रुद्ध गुरुवार को ‘लुक आउट’ नोटिस जारी किया। इसके साथ ही अपनी जां च तेज करते हुए पु लिस ने लाल किले पर हुई हिं सा के संबंध में राजद्रोह का मामला द र्ज किया है। पु लिस ने किसान नेताओं को तीन दि नों का समय देते हुए यह बताने को कहा है कि क्यों नहीं उनके खि लाफ का नूनी का र्र वाई की जाए क्योंकि उन्होंने परे ड के लिए तय श र्तों का पा लन नहीं किया।

सूत्रों ने कहा कि दो षि यों का पता लगाने के लिए लगभग नौ टीमों का ग ठन किया गया है। हालां कि इस सं बंध में अभी तक पु लिस की ओर से कोई आधि कारिक पु ष्टि नहीं हुई है। एक दिन पहले दिल्ली के पु लिस आ युक्त एसएन श्रीवा स्तव ने कहा था कि हिं सा में शा मिल किसी भी दो षी को ब ख्शा नहीं जाएगा। श्रीवास्तव ने गुरुवार को पुलिस मुख्या लय में विशेष पु लि स आयुक्त (खु फि या) और अन्य वरिष्ठ पु लिस अधिका रियों के साथ बैठक की।

तीन कृषि कानूनों के विरोध कर रहे हैं किसान प्रदर्शनकारियों पर अब प्रशा सन काफी स ख्त नजर आ रहा है। श्रीवास्तव ने पी टीआई-भाषा को बताया, “दिल्ली पुलिस ने द र्ज प्राथ मिकी में नाम जद किसान नेता ओं के खिलाफ लुक आउट नो टिस जारी किया है।” पुलिस ने प्राथमिकी में राकेश टिकै त, योगेंद्र यादव और मेधा पाटकर समेत 37 किसान ने ताओं के नाम द र्ज किए हैं। इस प्राथमिकी में ह त् या की को शिश, दं गा और आ परा धिक साजि श के आरो प लगाए गए हैं। प्राथ मिकी में द र्शन पाल, गुरनाम सिंह चढूनी, कुलवंत सिंह संधू, सतनाम सिंह पन्नू, जोगिंदर सिंह उगराहा, सुरजीत सिंह फूल, जगजीत सिंह दालेवाल, बलबीर सिंह राजेवाल और हरिंदर सिंह लाखोवाल के नाम भी हैं।

तीन कृषि का नूनों के खि ला फ आंदोलन कर रहे किसान संग ठनों ने आ रोप लगाया है कि हिं सा के पी छे सा जिश थी। हिं स क घट नाओं में 39 4 पुलि सक र्मी घा यल हो गए और एक प्रद र्शन का री की मौ त हो गई थी।