अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले को चुनौती देगी हिंदू महासभा, दायर करेगी समीक्षा याचिका

0
508

हिंदू महासभा ने अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के 9 नवंबर 2019 के फैसले को चुनौती देने का ऐलान किया है। महासभा ने कहा है कि वह इस मामले में समीक्षा याचिका दायर करेगी। मीडिया रिपोर्ट्स में ऐसा दावा किया जा रहा है।

ऑल इंडिया हिंदू महासभा अयोध्या मामले में आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले को चुनौती देगी। महासभा अगले सप्ताह इस फैसले के खिलाफ समीक्षा याचिका दाखिल कर सकती है।

ध्यान रहे कि हिंदू महासभा के दो धड़े हैं, एक धड़े की अगुवाई स्वामी चक्रपाणि करते हैं और दूसरे की शिशिर चतुर्वेदी। फैसले के खिलाफ समीक्षा याचिका चतुर्वेदी धड़े की तरफ से दाखिल की जाएगी। इस मामले में हिंदू महासभा के वकील विष्णु शंकर जैन मोटे तौर पर दो बिंदुओं को लेकर समीक्षा चाहते हैं।

पहला है कि जब अयोध्या का मामला भूमि विवाद था और सुप्रीम कोर्ट ने पूरी जमीन का मालिकाना हक हिंदुओं को देने का निर्णय लिया, तो फिर मुस्लिम पक्ष को अलग से 5 एकड़ जमीन देने का क्या औचित्य है।

दूसरा बिंदु यह है कि बाबरी मस्जिद गिराए जाने के मामले में जब मुकदमा दूसरी अदालत में चल रहा है तो सुप्रीम कोर्ट अपने 9 नवंबर के फैसले में इस घटना को गैरकानूनी करार देने से इस मुकदमे पर फर्क पड़ सकता है।

विष्णु शंकर जैन ने एक मीडिया वेबसाइट को बताया कि, “सुप्रीम कोर्ट ने बाबरी मस्जिद गिराए जाने को कानून का उल्लंघन माना है, इससे लखनऊ में चल रहे केस पर फर्क पड़ेगा। हम सुप्रीम कोर्ट से इस पहलू पर पुनर्विचार करने की मांग करेंगे।”

ध्यान रहे कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद हिंदू महासभा ने इसका स्वागत करते हुए इसे ऐतिहासिक फैसला बताया था।