राष्ट्रीय उलमा काउंसिल पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना रशादी मदनी ट्रिपल तलाक को लेकर….

0
767

आज माननीय सुप्रीम_कोर्ट ने ट्रिपल_तलाक़ पे बने असंवैधानिक क़ानून के खिलाफ हमारी #याचिका को क़ुबूल कर लिया है और केंद्र सरकार को नोटिस कर इस पर जवाब मांगा है। हमने अपनी याचिका में साफ कहा है कि मुस्लिम विवाह एक सिविल कॉन्ट्रैक्ट है जिसे सरकार क्रिमिनल बना रही जो कि अवैध है साथ ही इस्लाम मे ही दो अन्य मसलक ऐसे हैं

जो कि एक बार मे दिए गए 3 तलाक़ को एक तलाक़ ही मानते हैं तो इस मसले का हल हमारे यहां खुद ही है साथ जब माननीय कोर्ट ने खुद 3 तलाक़ को अवैध करार दे दिया तो जब तलाक़ हुआ ही नही तो सज़ा किस बात की? ऐसे में इस कानून का औचित्य ही बाकी नही रह जाता।