मुसलमानों का ऐसा नेता जो जनता के दिलों पर करता है राज.. राहुल और प्रियंका भी इस की फैन फॉलोइंग के हो चुके हैं कायल

0
173

उत्तर प्रदेश की राजनीति में एक नाम तो आपने सुना होगा जिसकी फैन फॉलोइंग के चर्चे देश भर में मशहूर है कांग्रेश के फायर ब्रांड नेता के रूप में अपनी पहचान रखने वाला यह नेता अपनी फैन फॉलोइंग को लेकर अक्सर चर्चा में रहता है भले ही यह नेता चुनाव हार गया हो लेकिन जनता के बीच इसकी छवि एक साफ-सुथरे और तेजतर्रार नेता की है।

जिसकी बात प्रशासन भी नहीं डाल सकता यही कारण है कि उत्तर प्रदेश में योगी सरकार आने के बाद भी इस नेता के दामन पर एक भी भ्रष्टाचार जैसे कोई दाग नहीं है गरीब और मजदूरों की लड़ाई लड़ने वाला सहारनपुर का यदि कई नेता प्रियंका और राहुल का बेहद करीबी है जी हां आज हम बात कर रहे हैं शख्सियत में कांग्रेस के कद्दावर नेता इमरान मसूद की जो सहारनपुर यानी कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश से आते हैं।

इमरान मसूद अक्सर अपने तेज तर्रार बयानों को लेकर सुर्खियों में रहते हैं हाल ही मैं हुए लोकसभा चुनाव में इमरान मसूद एक ऐसे नेता थे जो बहुत कम वोटों के अंतर से चुनाव हारे थे वरना कांग्रेस के साथ असर प्रत्याशी अपनी जमानत बचाने में भी नाकाम रहे थे यही कारण है कि राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के बेहद खास करीबियों में से एक माने जाते हैं हाल ही में राज्यसभा की सीटों को लेकर भी चर्चा में इमरान मसूद का नाम सामने आया था।

कांग्रेस ने पहले से कई बड़े पदों से नवा चुकी है माना जाता है कि सहारनपुर क्षेत्र में कांग्रेस का वोट बैंक ना होते हुए इमरान मसूद की अपनी छवि पर कांग्रेश के प्रत्याशी जीत हासिल करते हैं यही कारण है कि सहारनपुर क्षेत्र से इमरान मसूद ने 3 विधायकों को जीता कर इस बार विधानसभा भेजा है इससे पहले भी इमरान मसूद अपने दमदार चुनाव प्रचार को लेकर सुर्खियों में रहे हैं।हाल ही में हुए उपचुनाव में इमरान मसूद के भाई नोमान मसूद बहुत कम वोटों के अंतर से चुनाव हारे थे इमरान मसूद की फैन फॉलोइंग का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं.

जब लोकसभा चुनाव के दौरान हमारे पत्रकारों ने जनता से पूछा था तो उन्होंने कहा था कि इमरान मसूद भाजपा के प्रत्याशी को हरा नहीं पा रहे हैं यही कारण है कि हम इमरान मसूद को वोट नहीं दे पा रहे हैं लेकिन हमारा नेता इमरान ही है वोटरों ने खुलकर इस बात को मानना था।कि इमरान मसूद के साथ अगर दलित वोट बैंक जुड़ जाता तो इमरान मसूद भाजपा के नेता को हरा देते और लोग एक तरफा उन्हें वोट देते लेकिन उसके बावजूद माहौल भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ होते थे

बसपा के प्रत्याशी रहमान की तरफ था फिर भी मोटर यह मानता है कि हाजी फजलुर रहमान उनके लिए कोई खास नहीं है उनका असली नेता इमरान मसूद है और उनके छोटे से लेकर बड़े काम तक इमरान मसूद पीछे का नेता करा सकता है आप इसी बात से अंदाजा लगा लीजिए बस उसकी लोकप्रियता कैसी होगी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here