इंदौर छोड़िए, पीलीभीत में तो डीएम और एसपी साहब ही भीड़ इकट्ठा कर शंख और घंटा बजा रहे थे,देखें Video

0
1050

कानपुर/पीलीभीत. जनता कर्फ्यू (Janta Curfew) के दौरान कानपुर और पीलीभीत जिले के जिलाधिकारियों (District Magistrate) की बड़ी लापरवाही सामने आई है. दोनों ही जगह के जिलाधिकारियों ने रविवार शाम को पांच बजे कोरोना वारियर्स के सम्मान में ताली और घंटी बजाने के लिए पुलिसबल और आमलोगों के साथ सड़कों पर घूमते नजर आए. पीलीभीत डीएम वैभव श्रीवास्तव ने लोगों के साथ सड़कों पर मार्च करते हुए घंटी बजाई, जबकि कानपुर डीएम डॉक्टर ब्रह्मदेव राम तिवारी और एसएसपी अनंतदेव तिवारी पुलिसबल के साथ घंटी और ताली बजाते नजर आए. दोनों का वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल है.


दरअसल, दोनों ही अधिकारियों ने जनता कर्फ्यू के उस उद्देश्य की अनदेखी की जिसमें लोगों के जमावड़े को रोकते हुए सामाजिक तौर पर दूरी (Social Distancing) बनानी थी. वायरल वीडियो में दोनों डीएम अपने मातहतों व आमजनों के साथ सड़कों पर तालियां और घंटियां बजाते नजर आए. बड़ा सवाल यह है कि जिन अधिकारियों पर ही लॉकडाउन को लागू करवाने की जिम्मेदारी है, अगर वे खुद ही नियमों की धज्जियां उड़ाएंगे तो आमजन का क्या होगा?


उधर पीलीभीत से बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने इस वीडियो का संज्ञान लेते हुए डीएम और एसपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. इसके अलावा विपक्षी दल और बीजेपी नेता भी अब सामने आ रहे हैं. इस बीच सरकार ने भी वीडियो का संज्ञान लिया है और रिपोर्ट तलब की है.